in

Kissing Prank Nurse EDITION!



#China #India #United_States_of_America #Indonesia #Brazil #PakistChin #Bangladeshi #Bangladesh #Russia #Japan #Mexico #Philippines

Since time immemorial, man is involved in the search of su-
preme peace, happiness and immortality. He has been trying ac-
cording to his capability, but this desire of his is not being fulfilled.
This is so because he does not have complete knowledge about the
path which will fulfil this desire of his. All living beings want that
there should be no need to do any work, they should get delicious
food to eat, should get beautiful clothes to wear, there should be
magnificent palaces to live in, beautiful parks to roam in, melodious
music for entertainment, should dance-sing, play-jump, should en-
joy without any restraint, and should never fall ill, should never grow
old, and should never die etc-etc, but the world in which we are liv-
ing, here neither is this visible anywhere, nor is possible, because
this world/lok is destructible and every thing of this lok/world is per-
ishable and the king of this lok is Brahm-Kaal who eats one lakh
immaterial (subtle/sukshm) bodies of human beings. He has captured
all the living beings in the cage of the three loks by entangling them in
the net of karm1
-bharm2
and sins-virtues. God Kabir says that –
Kabir, teen lok pinjra bhya paap punya do jaal
Sabhi jeev bhojan bhaye ek khaane waala Kaal
Garib, ek paapi ek punyi aaya ek hai soom dalel re
Bina bhajan koi kaam nahin aavae sab hai jam ki jail re
He (Kaal) does not want any living being to escape from this
cage-like imprisonment. He also does not want a soul to know about
its own home Satlok. Therefore, he has misled every living being by
his Trigunmayi Maya (Maya of the three gunas). Then wherefrom
has this aforesaid desire arisen in man? Here there is nothing like
this. Here we all have to die, all are distressed and disturbed. The
state which we want to attain here, we used to live in such a state in
our real home Satlok. We willingly came here and got trapped in
Kaal Brahm’s lok and forgot the way to our real home. Kabir Sahib
says that –
Ichchha roopi khelan aaya, taataen sukh sagar nahin paaya

जितने भी लोग आज न्याय के लिए आवाज उठा रहे हैं उनकी आवाज को सरकार दबा रही है।”

“न्याय के लिए आवाज उठाने के कारण ही सरकार ने बरवाला कांड करवा दिया और आज दुनिया के सामने किसानों की आवाज को कुचला गया।”

“बीजेपी सरकार ने ठान रखा है कि ये किसी के भी साथ न्याय नहीं करेगी जैसा कि आज ये गरीब किसानों के साथ कर रही है।”

🔸सभी शास्त्रों में प्रमाण है कि परमात्मा कबीर साहिब हैं।

🔸कबीर साहिब ही सबसे बड़े अल्लाह रहमान हैं, जिन्होंने सारी सृष्टि छः दिन में रची व सातवें दिन तख्त पर जा विराजे।

🔸कबीर साहिब ही हमारे पाप कर्म काट सकते हैं।

🔸कबीर साहिब ही अविनाशी परमात्मा हैं।

🔸वही मोक्ष दाता हैं। आत्मा के सच्चे साथी भी वही हैं।

🔸कबीर साहिब माँ से जन्म नहीं लेते। न ही उनकी मृत्यु होती है।

🔸कबीर सागर में प्रमाण है कि सारी सृष्टि कबीर साहिब जी की ही भक्ति करेगी।
▪कबीर साहिब जी ही अविनाशी हैं, बाकी सभी देवी देवता भी जन्म मरण में आते हैं।
▪कबीर साहिब चारों युगों में आते हैं और सशरीर सतलोक चले जाते हैं।
▪ वे स्वयं तत्वदर्शी संत की भूमिका करते हैं।
▪ पूरे संसार को सतभक्ति पर भी वही दृढ़ करते हैं।
▪ वेद भी गवाही देते हैं कि परमात्मा अपने सत धाम से चल कर आते हैं। पापों को हरने और मोक्ष देने के लिए।
▪कबीर साहिब जी के 600 साल पहले चौसठ लाख शिष्य बन गए थे, उनके चमत्कार देखकर।
▪कबीर साहिब को शेख तक़ी ने मारने की कोशिश की, पर कबीर साहिब सर्व शक्तिमान हैं उनको कुछ भी नही हुआ।
▪कबीर साहिब ही बन्दीछोड़ हैं।
▪कबीर साहिब जी ही पूर्ण प्रभु हैं जिनकी गवाही सभी वेद व ग्रंथ भी देते हैं।

source

Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

24 Comments

Leave a Reply

Leave a Reply

Kissing Prank by a hot girl  l  Ek Kiss do na

Kissing Prank by a hot girl l Ek Kiss do na

Kissing Prank India - Spin The Coin | THF 2.0

Kissing Prank India – Spin The Coin | THF 2.0